शुक्रवार, जुलाई 24

संगीत की धुन....




संगीत के बोल...उसकी धुन....उसकी तान कुछ कहती हैं!
ज़रा ग़ौर से सुनिए...इसके बोल...इससे निकलने वाला एक-एक स्वर आपमें नई उर्जा भर देता है...
नए...पुराने..रीमिक्स...वेस्टर्ण...और न जाने क्या क्या...लेकिन संगीत हर उम्र...हर वर्ग के इंसान को अपना दीवाना बना लेती है...आप ग़म में डूबे हो...या मौक़ा ख़ुशी का हो...आप इसके पहलू से बच नहीं सकते...जब आप ग़मगीन होते तो शैड सॉग आपके दिल को सुकून देता है...जब आप ख़ुश होते हैं तो आपको आपकी पसंद के सभी गाने लुभाते हैं...संगीत अगर आपका अच्छा दोस्त बन जाए तो आपके सारे ग़म पल भर में छू मंतर कर देती है...त्योहारों पर भी अलग-अलग मूड के गाने सुने जा सकते हैं...आजकाल तो इयरफोन ने लोगों को संगीत से जोड़ने में महारत हासिल कर ली है...लोगों की कानों में इयरफोन चिपके दिखाई दे जाए तो कोई बड़ी बात नहीं...आईपोड...कंप्यूटर...लैपटॉप..यहां तक की फोन में भी संगीत की सुविधा उपलब्ध करा दी गई हैं...पहले रेडियो स्टेशनों पर जहां समाचार और कार्यक्रमों को प्राथमिकता दी जाती थी...वहीं अब तो वो भी संगीत के रंग में रंगे नज़र आते हैं...रेडियो के कई सारे संभाग हर समय लोगों के मनपसंद गाने बजाते सुनाई देंगे...




हर वर्ग के लिए अपने समय के गाने पसंद आते हैं...वुजुर्ग अपने समय के गाने सुनना पसंद करते हैं...प्रोढ़ अपने जमाने के गीत सुमकर अपनी यादें ताज़ा करते हैं...तो बच्चे अपनी तरह के गाने सुनने में दलचस्पी लेते हैं...वहीं युवा तड़कीले भड़कीले गानों की धुन पर झूमते हैं...किसी को क्लासिकल संगीत लुभाता है तो किसी को फिल्मी संगीत....किसी को पॉप पसंद आता है तो किसी को....स्लो सॉंग भाता है...सच कहूं तो मैं भी संगीत की बेहद दीवानी हूं...और मुझे नए गाने ज्यादा पसंद आते हैं....गज़ल सुनने का भी शौक़ रखती हूं...पंकज उदास, गुलाम अली और जगजीत सिंह की गज़लों में तो मैं खो सी जाती...
हूं....


कुछ संगीत प्रेमी तो ऐसे भी होते हैं जो अपने जरूरी काम भी संगीत सुनकर निपटाना पसंद करते हैं....
क्या आप भी इनमें शामिल हैं...?
तो फिर चलिए...करते हैं संगीत से देस्ती और इसके आग़ोश में डूब कर भूल जाए सारे ग़म....

2 टिप्‍पणियां:

  1. संगीत के वैज्ञानिक प्रयोग भी सफल कहे आते हैं
    फिर दिल की सुनाने में भलाई है ... मौसम में हमेशा रंग भरता है संगीत
    आपने बहुत सुन्दर लिखा है

    उत्तर देंहटाएं
  2. अगर आपको भी संगीत बहुत पसन्द है तो आईये हमारी जाजम..ओह माफ कीजिये हमारी गीतों की महफिल में। वहां आप एक से एक लाजवाब और मधुर गीत सुन सके तो ऐसे भी होंगे जो आप पहली बार ही सुनेंगी।
    ॥दस्तक॥|
    गीतों की महफिल|
    तकनीकी दस्तक

    उत्तर देंहटाएं