शुक्रवार, जून 25

फैशन की गर्दिश

मधुर भंडारकर की एक फिल्म आई थी...फैशन...शायद आपको इसकी कहानी याद होगी....इस फिल्म में फैशन जगत से संबंधित खामियों को बखूबी दर्शाया किया गया है....फिल्म में एक मॉडल के करियर की बुलंदियों से लेकर उसके जमीन पर आ गिरने तक की कहानी दिखाई गई है...एक सफल मॉडल के त्रासदी की कहानी...जिसने सबको झकझोर कर रख दिया....
वास्तव में फैशन जगत जितना चकाचौध भरा दिखता है उतना है नहीं...यहां दिखता कुछ और है और वास्तिवकता कुछ और होती है...चेहरे पर सुर्ख मुस्कान लिए मॉडल रैंप पर अदाओं का जलवा तो बिखेरती है...उन्हें देखकर आप कतई अंदाजा नहीं लगा सकते कि उनकी जिंदगी में भी कोई परेशानी होगी..लेकिन ये सच है...उनकी जिंदगी में भी उतार चढ़ाव आते हैं...उन्हें भी कई बार परेशानियों से गुजरना पड़ता है...यहां कुछ मॉडल सफलता की नई इबारत लिखती हैं तो कुछ गुमनामी के अंधेरे में खो जाती हैं...


ताजा मामला है भारत की मशहूर मॉडल विवेका बाबाजी का...चर्चित मॉडल विवेका बाबाजी ने मुंबई के पॉश इलाके बांद्रा में खुदकुशी कर ली। विवेका की लाश उनके घर में रस्सी से लटकी मिली। 37 साल की विवेका बाबाजी मॉरीशस की रहनेवाली थी और मुंबई के बांद्रा इलाके में पिछले 10 साल से रह रही थी।  लाश के पास एक डायरी, एक लैपटॉप और नींद की गोलियां मिली....वहीं विवेका के किचन में गैस का रिसाव हो रहा था...शुरुआती जांच में पुलिस को ये खुदकुशी का मामला लगा। विवेका की मौत की जांच के लिए तीन टीमें बनाई गई है। दो टीम मुंबई पुलिस की है जबकि क्राइम ब्रांच की भी एक टीम मामले की जांच में जुटी है। खैर ये तो जांच के बाद ही पता चलेगा कि ये मामला खुदकुशी का है या फिर हत्या का....

लेकिन कुछ साल पहले आपको याद होगा एक सुपर मॉडल सड़क के किनारे नशे की हालत में मिली थी...उसे उसकी नशे की आदतों ने सड़क पर पहुंचा दिया....
 इसके कुछ साल बाद मशहूर मॉडल और एमटीवी वीजे नफीसा जोसेफ की आत्महत्या की खबर आई...उन्होनें गौतम खांडुजा के साथ विवाह किया था...मृत्यु से पहले वे काफी निजी परेशानियों का सामना कर रही थी....नफीसा फैशन जगत में ही नहीं टीवी जगत में भी जाना पहचाना नाम बनती जा रही थी..लेकिन इन सुपर मॉडलों की मौत ने फैशन की चकाचौंध का घिनौना चेहरा सामने ला दिया....

वहीं ब्रिटेन में भी ऐसे ही कुछ मामले सामने आए  हैं... प्रख्यात मॉडल हेले क्रुक को हैम्पशायर स्थित उनके अभिभावकों के घर में मृत पाया गया। क्रुक के पुरुष मित्र को 17 जून को मॉडल के बिस्तर पर उसका शव मिला। मौत की वजह अब तक पता नहीं लगाई जा सकी है। पूर्वोत्तर हैम्पशायर के जांच अधिकारी एंड्रयू ब्राडली उनकी मौत के कारणों की जांच कर रहे हैं। तेईस वर्षीय क्रुक लंदन स्टूडियो सेंटर से स्नातक थीं।

मियामी में भी मशहूर पत्रिका ‘प्लेबॉय’ की पूर्व मॉडल एवं एक अरबपति की विधवा एना निकोल स्मिथ की संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु हो गई थी...39 वर्षीया स्मिथ फ्लोरिडा के एक होटल में ठहरी थीं। एक निजी नर्स ने अस्पताल से चिकित्सीय सहायता के लिए संपर्क किया और स्मिथ को अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मृत्यु हो गई। हालांकि अबतक उनकी मौत के कारण का पता नहीं चल सका है।

अब सवाल ये उठता है कि आखिर ऐसे मामले लगातार सामने क्यों आ रहे हैं... सुपर मॉडल बनने के लिए कुछ नहीं बहुत कुछ कर गुजरने की चाह रखने वाली टॉप और बोल्ड मॉडलों को क्या हो जाता है कि वो खुद को इतना कमजोर महसूस करने लगती हैं...और ऐसे कदम उठा लेती हैं...?

दरअसल सुपर मॉडल बनने की चाह में ये मॉडल अपना घर परिवार, शहर, दोस्त और प्यार सब छोड़ देती है... और जब उन्हें ठोकर लगती है तो वो पाती है कि उसके हाथ में कुछ नहीं बचा है...जिंदगी से समझौता करने के बाद लड़कियां अपने सुपर मॉडल बनने का सपना पूरा करने में इतनी बिजी हो जाती है कि उन्हें अपनी असली दुनिया नजर ही नहीं आती और ऊपर जाने की धुन में वो नीचे गिरती चली जाती है... इनमें से गिनी चुनी मॉडलें ही बुलंदियों पर कुछ समय के लिए टिक पाती हैं...या बॉलीवुड में हाथ आजमाती हैं...लेकिन इनमें से ज्यादातर लड़कियों को वापस लौटना पड़ता है....ये दुनिया कभी किसी की नहीं हुई...यहां चमकनेवाला सितारा  कम समय के लिए ही बुलंदियों पर टिक पाता है....और जब वो औंधे मुह गिरता है तो उसे जिंदगी की हकीकत नजर आती है....आई ऍम बेस्ट के भ्रम मैं रहने वाली सुपर मॉडल  चंद लम्हों में जमीन पर आ जाती है...फैशन की दुनिया का घिनोना चेहरा तब सामने आता है जब एक मॉडल खुद को असहाय महसूस करने लगती हैं..चकाचौध की दुनिया से वो सीधे आंधकारमय जीवन की ओर मुखातिब हो जाती है...

यहीं से शुरू होती है उसकी त्रासदी की कहानी...अब वो खुद को असुरक्षित मसहूस करने लगती हैं....उनसे कम उम्र की मॉडल उसकी जगह लेने लगती है....इस जगत में लड़कियों का करियर काफी कम समय के लिए  ठहरता है...लेकिन इस बात को वो अपने जेहन में नहीं उतार पातीं....घर परिवार से अलग दुनिया...शादी में इसलिए देरी क्योंकि इस फील्ड को शादी के बाद करियर का पड़व समझा जाता है....ऐसे में एक सफल मॉडल भला क्या करे....शादी का समय निकलता चला जाता है...परिवार से भी ज्यादा लगाव नहीं रह जाता....ऐसे में उनका इकलौता करियर भी उन्हें टिमटिमाता नजर आता है....जो धीरे-धीरे उन्हें खोखला करती चली जाती है...चेहरे पर हमेशा खुशियों का मुखौटा ओढ़नेवाली मॉडल खुद को असहाय महसूस करने लगती हैं...उसकी  हर रोज शान से जीने की अपनी आदत उसपर भारी पड़ने लगती है... और गुमनामी का डर उसे सताने लगता है..इस वक्त वो उम्र के ऐसे पड़ाव पर आ जाती हैं...जब उनके लिए शादी का वक्त निकलता नजर आता है ...और करियर बदलने का कोई दूसरा रास्ता भी नहीं रह जाता...

7 टिप्‍पणियां:

  1. इन चमक दमक वाली इमारतों की नींव में अंधेरा बहुत है!! (यही है इस ग्लैमर दुनिया का यथार्थ!!)

    उत्तर देंहटाएं
  2. परिवार से दूर एकल जीवन की चाह और अपनों की कमी भी एक वजह है ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत त्रासद!फिर वही!लड़कियों की प्रगति के कसीदे पढने वाले तथाकथित प्रगतिशील लोगों के मुंह पर एक बार फिर तमाचा!यदि ऐसा नहीं तो पुरुष मॉडलों के साथ इस तरह की घटनाओं का प्रतिशत कम क्यूँ?शायद संवेदनशीलता के अतिरेक से उपजे अवसाद की पराकाष्ठा
    वंदना शुक्ल

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत त्रासद!फिर वही!लड़कियों की प्रगति के कसीदे पढने वाले तथाकथित प्रगतिशील लोगों के मुंह पर एक बार फिर तमाचा!यदि ऐसा नहीं तो पुरुष मॉडलों के साथ इस तरह की घटनाओं का प्रतिशत कम क्यूँ?शायद संवेदनशीलता के अतिरेक से उपजे अवसाद की पराकाष्ठा
    वंदना शुक्ल

    उत्तर देंहटाएं
  5. बेशक विश्लेषण अच्छा किया आपने.. लेकिन पता नहीं क्यों मुझे किसी की मौत को फ़िल्मी रंग देना समझ नहीं आ रहा.. मीडिया से मेरी कोइ निजी दुश्मनी नहीं मधु जी.. लेकिन ये आप भी समझती ही होंगीं कि आज अधिकाँश मीडिया परसन किस ट्रेंड को फोलो कर रहे हैं..

    उत्तर देंहटाएं
  6. इस दुनिया में खूबसूरत हर कोई होना चाहता है...और वही खूबसूरती कभी-कभी जान की दुश्मन भी बन जाती है...लेकिन इसका मतलब है बिल्कुल भी नहीं है कि मॉडलिंग की दुनिया में ये खूबसूरती कभी-कभी जी का जंजाल बन जाती है...बल्कि जिस खूबसूरती की दम पर मॉडल दुनिया जीतने की ख्वाब सजा लेती है, वो ख्वाब जब टूटता है उस वक्त दामन में कुछ नहीं बचता...इसलिए मैं तो यही कहूंगा कि खूबसूरती भगवान का दिया एक नायाब तोहफा है लेकिन कई बार इंसान इसकी सही इस्तेमाल नहीं कर पाता।

    उत्तर देंहटाएं